Saturday, July 14, 2007

एक चेहरा

एक चेहरा
जो पुराने सारे
चेहरे भुला दे

एक चेहरा
जो रातों की
निंदे उडादे

एक चेहरा
जिसे देखेने के बाद
किसी और को देखेने की
चाहत ना रहे

निगाहों की राहों से
दिल में उतरकर
वो चेहरा
मुझको चुरा ले गया है।

यादों में
सोचों में
खुदको बसाकर
तड़पने कि मुझको
सज़ा दे गया है।

एक चेहरा...

- तुषार जोशी, नागपूर

**********************************************************
LOVE IS GOD - प्रेम ईश्वर है।
**********************************************************


4 comments:

परमजीत बाली said...

तुषार जी, बढिया लिखा है।

Sanjeet Tripathi said...

बढ़िया अभिव्यक्ति तुषार जी

मोहिन्दर कुमार said...

वो कौन है? वो कौन है?

गिरिराज जोशी said...

बहुत सुन्दर!

मोहिन्दरजी के प्रश्न का जवाब दिया जाये :-)